20 March 2019

भगोड़ा नीरव मोदी लंदन में गिरफ्तार, 29 मार्च तक भेजा गया कस्टडी में

पीएनबी बैंक घोटाले में फरार आरोपी नीरव मोदी को लंदन के होलबोर्न में गिरफ्तार कर लिया गया है। नीरव मोदी के खिलाफ लंदन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट ने गिरफ्तारी वॉरंट जारी किया था। भारत सरकार बहुच समय से नीरव मोदी के प्रतयर्पण की कोशिश में लगी है। भारत सरकार की कोशिशों के जवाब में ही नीरव मोदी को प्रत्यर्पित करने के लिए लंदन कोर्ट ने उसके खिलाफ गिरफ्तारी वॉरंट जारी किया।

भारतीय समयानुसार लंदन में करीब साढ़े पांच बजे नीरव मोदी को वेस्टमिंस्टर मैजिस्ट्रेट कोर्ट में पेश किया गया। हालांकि मामले की सुनवाई स्थगित हो गई और अब चीफ मैजिस्ट्रेट के सामने 29 मार्च को अगली सुनवाई होगी। आपको बता दें कि अदालत भारत में उसके प्रत्यर्पण को लेकर मामले की सुनवाई करेगी। इस बीच, सूत्रों का कहना है कि प्रवर्तन निदेशालय की ओर से नीरव मोदी की संपत्तियों को बेचा जा सकता है।

क्या है पीएनबी घोटाला 

13,500 करोड़ का पीएनबी घोटाला देश का सबसे बड़ा बैंकिंग घोटाला है। नीरव मोदी इसका मुख्य आरोपी है। इसमें नीरव के मामा मेहुल चौकसी भी शामिल हैं। 7 साल तक पीएनबी घोटाला चलता रहा, लेकिन आरबीआई और वित्त मंत्रालय को इसकी भनक तक नहीं लगी। इस घोटाले में बैंक के कई कर्मचारी भी शामिल थे जिनपर कार्रवाई की जा रही है। 

बता दे, नीरव मोदी के खिलाफ 15 फरवरी 2018 को सीबीआई ने केस दर्ज किया था। ईडी ने सीबीआई द्वारा दर्ज की गई एफआईआर के आधार पर पिछले साल 15 फरवरी को दोनों आरोपियों नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के खिलाफ मनी लांडरिंग का मामला दर्ज किया था। ईडी अब तक चोकसी और नीरव मोदी की 4,765 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त कर चुका है।



More By Jangan